Risk Management क्या हैं ? Stock Market में रिस्क को कैसे मैनेज करे ?

0
296
Risk Management
Risk Management

What is Risk Management in Stock Market / Stock Market में रिस्क को कैसे मैनेज करे

आज के आर्टिकल में हम Risk Management के बारे में जानकारी लेते हैं | रिस्क मैनेजमेंट क्या होता है ?? स्टॉक मार्केट में रिस्क को कैसे मैनेज करते हैं ?? यह हम आपको इस आर्टिकल के द्वारा बताएंगे | रिस्क मैनेजमेंट यह एक तरह का प्रोसेस है जिसमें हम जान सकते हैं की एक विशेष ट्रेड में कितनी रिस्क है और उस रिस्क को कम करने के लिए स्ट्रैटेजिस बनाते हैं जिसकी वजह से हमारे रिटर्न अच्छे आते हैं |

स्टॉक मार्केट में रिस्क मैनेजमेंट यह इंपॉर्टेंट फेक्टर है | रिस्क मैनेजमेंट का उपयोग करके हम लोग कम कर सकते हैं | बहुत से ट्रेडर अपने अकाउंट से इसको देखे बिना ट्रेडिंग की शुरुआत करते हैं | तथा एक ट्रेड में बहुत ज्यादा पैसे कमाने की कामना करते हैं| इस प्रकार के ट्रेड को Gambling कहा जाता है| यदि आप रिस्क मैनेजमेंट के बिना ट्रेडिंग करते हो तो आप के लॉक होने के चांसेस बढ़ जाते हैं| Long Term Return को ध्यान में रखते हुए आप अगर रिस्क मैनेजमेंट रूल का पालन करते हो तो आपका प्रॉफिट बढ़ जाता है | रिस्क मैनेजमेंट केवल आपके कैपिटल को ही प्रोटेक्ट नहीं करता बल्कि Long Term Investment में आपको अच्छा प्रॉफिट भी देता है |                                                                                                                                                                                         हम सब जानते हैं पैसों से ही पैसा बनाता है | लेकिन ट्रेडिंग स्टार्ट करने से पहले आपको स्टॉक मार्केट के बारे में और स्टॉक मार्केट के व्यवहारो के बारे में पूरी जानकारी होना जरूरी है | Stock Market में काम करने के लिए रिस्क मैनेजमेंट के बारे में पूरी जानकारी लेनी चाहिए तथा उसका सख्ती से पालन करना चाहिए | जैसे आपकी ट्रेडिंग अकाउंट में ( Demat Account ) 10,000 rs है और आप 2% का रिस्क लेते हैं तो एक ट्रेड में लॉस होने पर आपके अकाउंट में से 200 rs कम होंगे और अगर आप 10% का रिस्क लेते हैं तो आपके अकाउंट में से 1000 rs कम होंगे | इस प्रकार आप 2% और 10% के रिस्क का अंतर समझ सकते हैं | आप कितना रिस्क ले सकते हो उसके हिसाब से ट्रेड करना चाहिए | ताकि आपको कम से कम लॉस हो और आपका प्रॉफिट बढ़ता जाए |

रिस्क मैनेजमेंट में Risk Reward Ratio  वह पैरामीटर है जो ट्रेडर ट्रेड करते समय रीवार्ड के प्रोपोर्शन में रिस्क भी उठाता है | अगर आप 100 rs का रिस्क उठाते हो उसके बदले 100 rs कमाना चाहते हो तो इसे 1:1 का Reward Ratio कहते हैं | जैसे कि यदि आप 200 rs का रिस्क उठाते हो और 400 rs  कमाना चाहते हो तो इसे 1:2 का Reward Ratio कहते हैं | इसी प्रकार यदि आप 500 rs का रिस्क उठाते हैं तथा 1500 rs का reward चाहते हैं तो इसे 1:3 का Reward Ratio कहते हैं | 

Risk Management Techniques for Active Traders

Planning Your Trades :

  • Consider the One-Percent Rule.
  • Stop-Loss and Take-Profit.
  • Set Stop-Loss Points.
  • Calculating Expected Return.
  • Diversify and Hedge.
  • Downside Put Options.
  • The Bottom Line
  • Downside Put Options.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here